Physical Address

304 North Cardinal St.
Dorchester Center, MA 02124

Budget 2023: वित्त मंत्री ने दिया टूरिज्म सेक्टर को ‘मिशन मोड’, पढ़ें पूरी खबर

सीतारमण ने इस बजट का नाम ‘अमृत काल’ रखा है और कहा है की इंडियन इकॉनमी दुनिया की सबसे तेज रफ़्तार से ग्रो करने वाली इकॉनमी है। 

भारत की फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण ने 1 फरवरी 2023, बुधवार को मोदी सरकार 2.0 के लिए अपना पांचवा और आखिरी सालाना बजट पेश किया है। 

सीतारमण ने इस बजट का नाम ‘अमृत काल’ रखा है और कहा है की इंडियन इकॉनमी दुनिया की सबसे तेज रफ़्तार से ग्रो करने वाली इकॉनमी है। 

इंडिया इकॉनमी @100

निर्मला ने अपना बजट स्पीच सुबह 11 बजे शुरू किया और रेलवे बजट पेश किया। उन्होंने कहा कि इंडिया की G20 प्रेसीडेंसी के चलते हमारी अर्थव्यवस्था दुन्या की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में से एक होने वाली है। और यह बजट उसका बुनियादी ढांचा पेश करेगा। “यह अमृत काल का पहला बजट है। और यह पिछले बजट में तैयार किये गए देश की अर्थव्यवस्था India@100 के ब्लूप्रिंट के लिए बुनियाद रखेगा।”

टूरिज्म सेक्टर में क्या-क्या है?

अब बात चल रही है इंडिया के टूरिज्म सेक्टर की तो FM ने कहा है कि भारत का टूरिज्म सेक्टर अद्भुत तरीके से बढ़ने जा रहा है। चाहे बात डोमेस्टिक टूरिज्म की हो या इंटरनेशनल टूरिज्म की, भारत ट्रैवेलर्स के लिए सबसे बड़ा अट्रैक्शन रहा है और आगे भी रहेगा। फाइनेंस मिनिस्टर ने आगे कहा कि सरकार भारत के टूरिज्म सेक्टर को ‘एक मिशन’ बनाकर प्रमोट करेगी। 

भारत के टूरिज्म सेक्टर को प्रोत्साहित करते हुए वित्त मंत्री ने आगे कहा कि “भारत सरकार टूरिज्म सेक्टर का प्रमोशन करने के लिए ‘मिशन रखेगी’ जिसके चलते सभी राज्यों और सरकारी योजनाओं का सपोर्ट लिया जायेगा। और इसी के साथ-साथ पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप पर भी जोर दिया जायेगा।”

टूरिज्म इंडस्ट्री में है काफी बढ़िया पोटेंशियल

भारत टूरिज्म की जानकरी देते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि टूरिज्म इंडस्ट्री भारत की ऐसी इंडस्ट्री है जिसमे काफी पोटेंशियल है और जिसे अभी सही तरीके से एक्स्प्लोर नहीं किया गया है।

इसी के साथ सरकार ने आगे कहा कि इस सेक्टर को आगे बढ़ने के लिए राज्यों को बड़े बड़े एरिया और जहाँ टूरिस्ट सबसे ज्यादा आते हों वहां ‘Unity Mall’ (यूनिटी मॉल) प्रोत्साहित किया जायेगा। इस मॉल के अंतर्गत ‘वन डिस्ट्रिक्ट, वन प्रोडक्ट’ (One District, One Product) बेचे जायेंगे। इसी के साथ साथ इन जगहों पर GI प्रोडक्ट्स और अन्य हाथों से बने प्रोडक्ट्स (हेंडीक्राफ्ट प्रोडक्ट्स) बेचने के लिए प्रोत्साहित किया जायेगा। 

टूरिज्म सेक्टर पर पड़ने वाले बजट के कुछ खास प्रभाव:

  • इस सेक्टर में युवाओं के लिए अनगिनत नौकरियों और उद्योगों के लिए मौके होंगे। 
  • टूरिज्म सेक्टर का प्रमोशन ‘मिशन मोड’ में किया जायेगा जिसमे सभी राज्य और कई सारे सरकारी प्रोग्राम्स शामिल होंगे।
  • देश भर में 50 टूरिस्ट डेस्टिनेशन सेलेक्ट किये जायेंगे और इन्हें एक चैलेंज की तरह प्रमोट किया जायेगा।
  • भारत में 50 अतिरिक्त एयरपोर्ट्स, हेलिपोर्टस, एंड एरोड्रोमेस बनाये जायेंगे ताकि ज्यादा से ज्यादा स्थानों को कनेक्ट किया जा सके। 
  • रेलवे सेक्टर के लिए 2.40 लाख करोड़ का बजट तैयार किया गया है। यह बजट 2013-14 में रखे गए रेलवे के बजट से 9 गुना अधिक है। 
  • इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट के लिए लगातार तीसरी साल 33% की दर से 10 लाख करोड़ का बजट बढ़ाया है जो की पूरी जीडीपी का 3.3 प्रतिशत है। 
  • टूरिस्ट एप्प्स में फिजिकल और वर्चुअल कनेक्टिविटी, टूरिस्ट गाइड्स इनफार्मेशन, हाई स्टैण्डर्ड फ़ूड स्ट्रीट्स और टूरिस्ट की सुरक्षा के लिए खास बंदोबश्त किये जायेंगे। 

इस न्यूज़ को English में पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

ट्रेवल एवं टूरिज्म इंडस्ट्री के जुडी ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, इंस्टाग्राम और गूगल न्यूज़ पर हमें फॉलो करें और हमसे जुड़ें!

WhatsApp Group

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *